Friday, April 2, 2010

स्नूपी हैं इनका नाम ...

जरा आप सोचिये
आप से पूछा जाए
सूरज होता क्यों गोल हैं ,
आग में होती क्यों हैं जलन,
और पानी क्यों करता गिला हैं ,
करेंगे क्या आप ,
सर खुज्लायेंगे और कर क्या पायेंगे !
अरे आप तो अभी से घबरा गये
येँ तो बस शुरुआत हैं
इनके साथ जो होगा
तो सैलाब ऐसे ही सवालों का आयगा !
सूरत बहुत भोली हैं , सीरत भी भोली हैं
ऊपर जगह मगर थोड़ी खाली हैं
इन सवालों की वहां होती खूब पैदावार हैं
साथ इनका लगता प्यारा हैं ,
मगर खुले जो इनका मुह
बेहतर हैं ढून्ढ ले कोई किनारा !
चर्चा आजकल इनके सवालों का आम हैं
दिया किसी ने "स्नूपी" इनको नाम हैं ...
--- अमित ०१/०४/२०१०

4 comments:

Udan Tashtari said...

स्नूपि!!...देखकर ही किनारा कर लेंगे.

बढ़िया रचा.

संजय भास्कर said...

बढ़िया प्रस्तुति पर हार्दिक बधाई.
ढेर सारी शुभकामनायें.

संजय कुमार
हरियाणा
http://sanjaybhaskar.blogspot.com

संजय भास्कर said...

बढ़िया प्रस्तुति पर हार्दिक बधाई.
ढेर सारी शुभकामनायें.

संजय कुमार
हरियाणा
http://sanjaybhaskar.blogspot.com

Kulwant Happy said...

जावेद अख्तर ने रॉक ऑन में गीतों के मार्फत सवाल किए हैं। रॉक ऑन को बजाकर देखना जी।

बढ़िया प्रस्तुति के लिए बधाई हो।